Bihar Chunav Ghumta Hua Aaina

News of the week | बिहार की चुनावलीला | Bihar Election 2020 | Mehbooba Mufti |#GHA​ | #DBLIVE​

तो बिहार में चुनावी रंगमंच अब पूरी तरह सज चुका है। अब तक पर्दे के पीछे से संवाद की प्रैक्टिस में लगे नेता अब अपने किरदारों को निभाने के लिए एक के बाद एक आते जा रहे हैं। किसकी परफारमेंस जनता को सबसे अच्छी लगी, ये तो खैर 10 नवंबर को पता चलेगा, फिलहाल ये देखना दिलचस्प है कि इस चुनावी मंच पर कुछ किरदारों ने कितने सलीके से मुखौटे पहने हैं कि उनका असली चेहरा कभी जनता जान ही नहीं पाएगी।

BJP Targets Bihar from Kashmir

जैसा कि हर चुनाव में होता है, बिहार के चुनाव में भी बिजली, पानी, सड़क, कृषि ऋण, शिक्षा, रोजगार आदि मुद्दे बने हैं और जैसा कि भाजपा शासन में होते आया है हर चुनाव की तरह बिहार चुनाव में पाकिस्तान, कश्मीर सब मुद्दा बन चुके हैं।

खास बात ये है कि इस बार कश्मीर का मुद्दा खड़ा करने के लिए बड़े दूर की कौड़ी खेली गई है। महबूबा मुफ्ती ऐन चुनावों के पहले रिहा कर दी गई हैं और जिस दिन मोदीजी की पहली चुनावी रैली बिहार में हुई, उसी दिन उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस कर ऐसी बातें कीं, जिनसे अलगाववाद बनाम राष्ट्रवाद का मुद्दा खड़ा करने का मौका भाजपा को मिल गया।

Bihar elections: how many more arrows in BJP’s quiver now

तो बिहार चुनाव से पहले भाजपा के तरकश में अभी और ऐसे कितने तीर छिपे हैं, इसकी पड़ताल हम आज आईने की नज़र से करेंगे करेंगे.. और भाजपा की सियासी चालों के साथ ही ये भी समझने की कोशिश करेंगे कि आखिर इस बार किसके घोषणापत्र में कितना वजन है।

लेकिन सबसे पहले चलते हैं जम्मू-कश्मीर, जहां से महबूबा मुफ्ती ने सियासी बिसात पर एक ऐसी चाल चली है, जिसका असर बिहार विधान सभा चुनाव पर होगा..

तो देखिए देशबन्धु के समूह संपादक राजीव रंजन श्रीवास्तव का साप्ताहिक स्तंभ (Deshbandhu Group Editor Rajiv Ranjan Srivastava’s weekly column) “घूमता हुआ आईना”.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.