बुझता हुआ चिराग हैं #Modi, पर #BJP के पास नहीं कोई विकल्प | #hastakshep | #हस्तक्षेप

बुझता हुआ चिराग हैं #Modi, पर #BJP के पास नहीं कोई विकल्प |hastakshep | हस्तक्षेप |  उनकी ख़बरें जो ख़बर नहीं बनते

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

व्यवस्था में कोई ऐसा बड़ा परिवर्तन नहीं आया है जिससे हमारा जीवन आसान हो सके। हां, समाज में यह परिवर्तन अवश्य आया है कि सवर्ण हिंदुओं का एक वर्ग अब कट्टर बन गया है और मुसलमानों की ही नहीं बल्कि दलितों की भी शामत आ गई है। समाज बंट रहा है। सत्तापक्ष की शह पर झूठ की बड़ी फैक्ट्री खड़ी हो गई है और सोशल मीडिया पर भद्दी भाषा में धमकी भरे संदेश वायरल हो रहे हैं। असहमति जताने वालों को देशद्रोही बताया जा रहा है। भाजपा शासन के इन चार सालों में विकास के माडल की पोल भी खुल गई है। राज्यों में भाजपा का शासन आया है लेकिन सरकारी ढर्रे में कोई गुणकारी परिवर्तन नहीं आया। लोगों में निराशा है। मोदी की घोषणाओं की असफलता को छुपाने के लिए अजीबो-गरीब तर्क दिये जा रहे हैं। दरअसल, अब मोदी के पास न कोई नई नीति है और न ही नया कार्ड। ….. इस लिंक पर पूरा लेख पढ़ें  https://goo.gl/pUJQo6

One thought on “बुझता हुआ चिराग हैं #Modi, पर #BJP के पास नहीं कोई विकल्प | #hastakshep | #हस्तक्षेप

  • April 16, 2018 at 10:08 am
    Permalink

    2019 me modi ko koi maai ka laal nahi hai rokne wala

    Reply

Leave a Reply

%d bloggers like this: